Home / SSC / SSCtube

SSCtube

Those who didn’t want to scroll the timeline…

#INFormal_LETTER_in_HINDI

SSCtube

#SSC_CGL_2016

#DESCRIPTIVE

#LETTER_WRITING_IN_HINDI

#अनौपचारिक_पत्र

(Informal Letter)

इस प्रकार के पत्रों में पत्र लिखने वाले और पत्र पाने वाले के बीच नजदीकी था घनिष्ठ संबंध होता है। यह संबंध पारिवारिक तथा अन्य हो सगे-संबंधियों का भी हो सकता है और मित्रता का भी। इन पत्रों को व्यक्तिगत पत्र भी कहते हैं। इन पत्रों की विषयवस्तु निजी और घरेलू होती है। इनका स्वरूप संबंधों के आधार पर निर्धारित होता है। इन पत्रों की भाषा-शैली प्रायः अनौपचारिक और आत्मीय होती है।

पत्र के अंग (Parts of Letter)

पत्र चाहे औपचारिक हो या अनौपचारिक, सामान्यतः पत्र के निम्नलिखित अंग होते हैं, जैसे-

पता और दिनांक
संबोधन तथा अभिवादन शब्दावली का प्रयोग
पत्र की सामग्री
पता की समाप्ति, स्वनिर्देश और हस्ताक्षर

पता और दिनांक – पत्र के बाई ओर कोने में पत्र-लेखक का पता लिखा जाता है और उसके नीचे तिथि दी जाती है।

संबोधन तथा अभिवादन – जब हम किसी को पत्र लिखना शुरू करते हैं तो उस व्यक्ति के लिए किसी न किसी संबोधन शब्द का प्रयोग किया जाता है। जैसे- पूज्य/आदरणीय/पूजनीय/श्रद्धेय/प्रिय/प्रियवर/मान्यवर

1. प्रिय – संबोधन का प्रयोग निम्नलिखित स्थितियों में किया जाता है-

अपने से छोटे के लिए
अपने बराबर वालों के लिए
घनिष्ठ व्यक्तियों के लिए
अनौपचारिक पत्रों में महोदय / महोदय संबोधन शब्द के बाद अल्पविराम का प्रयोग नहीं किया जाता है, क्योंकि अगली पंक्ति में हमें अभिवादन के लिए कोई शब्द नहीं देना होता हैं।

अनौपचारिक पत्रों में अपने से बड़े के लिए नमस्कार, नमस्ते, प्रमाण जैसे अभिवादनों का प्रयोग होता है।

जब स्नेह, शुभाशीष, आर्शीवाद जैसे अभिवादनों का प्रयोग होता है तो मात्र संबोधन देखते ही हम समझा जाते हैं कि संबोधित व्यक्ति लिखने वाले से आयु में छोटा है। औपचारिक पत्रों में इस प्रकार के अभिवादन की आवश्यकता नहीं रहती।

अभिवादन शब्द लिखने के बाद पूर्ण विराम अवश्य लगाना चाहिए, जैसे-

पूज्य भाई साहब,
सादर प्रणाम,
प्रिय विवेक,
प्रसन्न रहो।

पत्र- सामग्री – पत्रों में अभिवादन के बाद पत्र की साम्रगी देनी होती है। पत्र के माध्यम से जो हम कहना चाहते हैं या कहने जा रहे हैं वही पत्र की सामग्री कहलाती है।

पत्र की समाप्ति, स्वनिर्देश और हस्ताक्षर – अनौपचारिक पत्र के अंत में लिखने वाले और पाने वाले की आयु, अवस्था तथा गौरव-गरिमा के अनुरूप् स्वनिर्देश बदल जाते हैं, जैसे – तुम्हारा, आपका, स्नेही, आपका आज्ञाकारि, शुभचिंतक, विनीत आदि।

Source

Check Also

RRB Updated Vacancies

#RRB_NTPC_UPDATED_VACANCIES Link to download vacancies – https://drive.google.com/open?id=0Bzs8Z_nnLuJZOVJkNmVVWFFSWGM Tomorrow we’ll upload preference list. Credit : Lucky …

20 comments

  1. Any update regarding rrb ntpc?

  2. chsl 117 sc chances hai kya.. serious aspirant pls reply..

  3. Please provide us a formal and informal hindi letter formate as soon as possible because ut is so confusing every books gives its own formate time is near so please provide us a proper format of both type of letter -thank you

  4. bhai ye question check kro..sahi h kya ssc ya m..

  5. SSC tube we are getting “Unexpected server response” in Tier-3 package. Please rectify it.

  6. Ncert me right side me diya hua h address.konsa follow kre?

  7. sir official letter ka hindi format share kro….plz…

  8. Sir rrb ntpc ka results kab aaye ga

  9. Sir apne jo essay diye hai vo sab kr liye kya yeah enough hai

  10. OROP pe likha h kya kisi ne hindi me

  11. Right to Information/Right to Education
    Energy security and alternative sources of energy.
    Increasing privatization of education in the face of globalization.
    Women empowerment: Participation in Politics.
    Corporate social Responsibilities.
    Development and Environmental Concerns.
    Liberalization and widening urban and rural inequalities.
    Changing role of India in International Politics.
    Use of social media in politics.
    Issues related to child labor and education in India.
    The role of Science and Technology in Rural Development in India.
    Various steps taken by the government for financial inclusion in India.
    Rural and Urban Migration problems and remedies.
    Commercialization of agriculture and FDI in Retail.
    Panchayati Raj and development of rural areas.
    How far India is able to implement good governance principles.
    Reforms required in public health system.
    Social media and psyche of Indian youth.
    Disaster Management: Natural Calamities and our preparedness.
    Crisis faced in India – moral or economic.
    Quick but steady wins the race.
    Can capitalism bring inclusive growth?
    With greater power comes greater responsibility.
    Words are sharper than the two-edged sword.
    ‘Globalisation’ vs. ‘ Nationalism’
    Urbanization and Its Hazards
    “Education for All” Campaign in India: Myth or Reality.
    Terrorism and world peace
    Privatization of higher education in India.
    The responsibility of media in a democracy.
    Reservation, politics, and empowerment.
    Judicial activism.
    Essay on strategy of planning in India since 1951

    Kuch important topics for tier3

  12. Ssc chsl 2015, 16 ka finale result kab tak aayega Sir,

  13. Sir chsl ke typing ka result kab aayege? Plz reply

  14. When will be completed all zones typing? & what will be next step of ssc for chsl2015? only typing result will declare or final merit list published.???? Plz reply if you know something about it.

  15. Letter ka topic kya hoga ?kuch topic guess kijye

  16. Sir chsl 2015 typing ka reault kab tak aayega

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status